डायबिटीज- इससे बचाव है आपकी अपनी ज़िम्मेदारी

डायबिटीज- इससे बचाव है आपकी अपनी ज़िम्मेदारी डायबिटीज जिसे डॉक्टर डायबिटीज मेल्लिट्स भी कहते हैं आजकल प्रायः हर घर में पायी जाने वाली एक सामान्य बीमारी है। इसमें मनुष्य के रक्त में ग्लूकोस की मात्रा सामान्य से काफी बढ़ी हुई पायी जाती है। इसके कई कारण होते हैं। सामान्यतः या तो शरीर में इन्सुलिन कम मात्रा में स्त्रावित होता है या फिर शरीर स्त्रावित हो रहे इन्सुलिन के प्रति समुचित रूप से प्रतिक्रिया नहीं कर रहा होता है। इससे ग्रस्त लोगों में तीन लक्षण मुख्य रूप से पाए जाते हैं- पौलियूरिया (अधिक बार मूत्र त्याग के लिए जाना), पौलिडिपसिया (बहुत […]

Read more

कमर दर्द, स्लिप-डिस्क और सियाटिका : कारण, बचाव और उपचार

Low back pain, Sciatica : Causes, Prevention and treatments in Hindi कमर दर्द, स्लिप-डिस्क और सियाटिका : कारण, बचाव और उपचार  डॉ. नवीन चौहान, कंसलटेंट आयुर्वेद फिजिशियन      कमर के निचले हिस्से में दर्द की समस्या से अक्सर हमें दो चार होना पड़ता है. ऐसा दर्द जो कमर के निचले हिस्से से शुरू होकर एक या दोनों टांगों में चलता हुआ महसूस हो, सियाटिका का दर्द हो सकता है. सियाटिका में प्रभावित टांग में झुनझुनी या सुन्नपन भी हो सकता है. इस रोग में रोगी गिद्ध के सामान लड़खड़ा कर चलता है इसलिए आयुर्वेद में इस रोग को ग्रध्रसी […]

Read more

फिशर: कारण, लक्षण एवं आयुर्वेद चिकित्सा Fissure Ayurvedic treatment causes symptoms Hindi

  फिशर: कारण, लक्षण एवं आयुर्वेद चिकित्सा Fissure : Causes, Symptoms and Ayurveda treatments डॉ नवीन चौहान, BAMS , CRAV (क्षार सूत्र) कंसल्टेंट आयुर्वेद फिजिशियन व गुदा रोग सर्जन   क्या होता है फिशर? What is a fissure? आमतौर पर गुदा से संबधित सभी रोगों को बवासीर या पाइल्स ही समझ लिया जाता है, लेकिन इसमें कई और रोग भी हो सकते हैं। जिन्हें हम पाइल्स समझते  हैं। ऐसा ही एक रोग है फिशर। इसे आयुर्वेद में गुदचीर या परिकर्तिका भी कहते हैं। इस रोग में गुदा के आसपास के क्षेत्र में एक चीरे या क्रैक जैसी स्थिति बन जाती […]

Read more

आयुर्वेदीय रसायन चिकित्सा | Rejuvenation therapies in Ayurveda

आयुर्वेदीय शास्त्र में रसायन चिकित्सा एक अत्यंत महत्वपूर्ण व प्रचलित विषय है. स्वस्थ व्यक्ति के स्वास्थ्य को बनाए रखने में, रोगमुक्त युवा बनाए रखने में रसायन चिकित्सा का महत्वपूर्ण स्थान है।   जाने अनजाने में हम अक्सर रसायन औषधियों का प्रयोग करते ही हैं, जैसे; आवंला, च्यवनप्राश, मूसली आदि. आयुर्वेद रसायन चिकित्सा आधुनिक रसायन शास्त्र (Chemistry) से पूर्णतयः भिन्न है. जहाँ आधुनिक रसायन शास्त्र से अर्थ एक ऐसे विज्ञान से है जिसमें पदार्थ, तत्वों, परमाणु व केमिकल्स आदि का अध्ययन किया जाता है, आयुर्वेदीय रसायन चिकित्सा से अभिप्राय ऐसी चिकित्सा से है जो शरीर में ओज (immunity) की वृद्धि करती है […]

Read more

Can Piles be cured completely by Ayurveda medicines only without any surgery or operation?

Can Piles be cured completely by Ayurveda medicines only without any surgery or operation? Please Click here to read this article in English क्या बवासीर बिना ऑपरेशन या सर्जरी पूर्ण रूप से ठीक हो सकती है? अक्सर ऐसा माना जाता है की बवासीर (पाईल्स) की बीमारी बिना सर्जरी या ऑपरेशन ठीक नहीं होती। वास्तव में ऐसा नहीं है। बवासीर के मस्से वस्तुतः प्रत्येक मनुष्य में सामान्य रूप से पाये जाते हैं, ये वास्तव में रक्त वाहिनियों का गुच्छा (Haemorrhoidal plexus) होता है, परंतु लगातार पेट खराब रहने कब्ज़ रहने या अत्यधिक गरम तासीर वाले चटपटे, मिर्च मसालेयुक्त भोजन का सेवन […]

Read more

भगन्दर (फिस्टुला): कारण, निदान एवं आयुर्वेद चिकित्सा | Fistula in Hindi

Fistula Bhagandar treatment in Hindi Fistula Bhagandar meaning in Hindi   भगन्दर (फिस्टुला): कारण, निदान एवं आयुर्वेद चिकित्सा डॉ. नवीन चौहान, बी.ए.एम.एस., सी.सी.वाय.पी., आर.ओ.टी.पी., सी.आर.ए.वी. (क्षार सूत्र) कंसलटेंट आयुर्वेद फिजिशियन व क्षार सूत्र सर्जन Helpline : +91-9818069989 भगन्दर Fistula in ano or Anal Fistula भगन्दर गुदा क्षेत्र में होने वाली एक ऐसी बीमारी है जिसमें गुदा द्वार के आस पास एक फुंसी या फोड़ा जैसा बन जाता है जो एक पाइपनुमा रास्ता बनता हुआ गुदामार्ग या मलाशय में खुलता है. शल्य चिकित्सा के प्राचीन भारत के आचार्य सुश्रुत ने भगन्दर रोग की गणना आठ ऐसे रोगों में की है जिन्हें कठिनाई […]

Read more

बवासीर (पाईल्स); कारण, बचाव एवं आयुर्वेदिक चिकित्सा Piles; causes, prevention and Ayurvedic Treatment:

बवासीर (पाईल्स) कारण बचाव एवं आयुर्वेदिक चिकित्सा Piles; causes, prevention and Ayurveda treatments in Hindi   Author: Dr. Naveen Chauhan, BAMS, CCYP, ROTP, CRAV (KSHARA SUTRA) SURGEON CUM AYURVEDA PHYSICIAN SPECIALIST IN FISTULA in ANO, PILES, FISSURE, PILONIDAL SINUS, ANO-RECTAL ABSCESSES AROUND 10 YEARS OF CLINICAL EXPERIENCE IN AYURVEDA SURGICAL PROCEDURES   बवासीर गुदा (मलद्वार) में होने वाली एक सामान्य बीमारी है, जिसमें मलत्याग के समय रक्तस्राव तथा मस्से फूलने की समस्या होती है. इसे पाईल्स या हेमोराइड्स भी कहते हैं। आयुर्वेद में इसे अर्श कहते हैं। यह बीमारी स्त्रियों की अपेक्षा पुरुषों में कुछ ज्यादा होती है। बवासीर प्रमुख कारण Piles; causes  बवासीर का प्रमुख कारण पेट […]

Read more

Fistula-in-ano and Ayurveda Kshar-sutra therapy

Ayurveda Kshar-sutra therapy in Fistula-in-ano The history of medical literature available today very clearly speaks that the disease Fistula-in-Ano (Bhagandara) affects more reputations of surgeons who deals with it. There is a saying in medical world “the best way to take revenge of a surgeon is to refer him a patient of Fistula-in-Ano”. Thus, it is a well known fact that in spite of the tremendous developments of modern medical science especially of surgery, the disease Fistula-in-Ano still remains a challenging problem to the medical world. The ano-rectal disorders and their management has established a separate surgico-dynamic  speciality among the various surgical […]

Read more