Health benefits of Dates/खजूर in Hindi

फिशर: कारण, लक्षण एवं आयुर्वेद चिकित्सा Fissure Ayurvedic treatment causes symptoms Hindi
दर्द निवारक दवाएं: दुष्प्रभाव और सावधानियां

datesखजूर शरीर को स्वस्थ रखने और मजबूत बनाता है। खजूर में कैल्शियम भरपूर मात्रा में होता है। इसमें बहुत ज़्यादा पौष्टिकता होती है। अगर पाचन शक्ति अच्छी हो तो खजूर खाना ज्यादा फायदेमंद है। 100 ग्राम खजूर से रोजाना की इतनी फीसदी ज़रूरत पूरी होती है।

-डायटरी फाइबर
-पोटैशियम
-विटामिन बी6
-मैग्नीशियम
-आयरन
-कैल्शियम
इससे सेहत को फायदे
1- इसमें बहुत अधिक मात्रा में डायटरी फाइबर पाए जाते हैं। इससे कोलेस्ट्रॉल को कम किया जा सकता है। इससे पाचन भी ठीक रहता है।
2- इसमें टैनिन नामक एंटी-ऑक्सीडेंट भी पाया जाता है। इससे संक्रमण दूर करने में मदद मिलती है। यह रक्त के स्राव को भी रोकता है।
3- यह विटामिन ए का बहुत अच्छा स्रोत है। इससे आंखों की रोशनी तेज होती है। इससे त्वचा की समस्याओं से भी छुटकारा मिलता है।
4- इसमें बीटा कैरोटिन नामक फ्लेवोनॉइड्स पाए जाते हैं। यह कोलोन, ब्रेस्ट, प्रोस्टेट और
लंग कैंसर से बचाव करने में भी मददगार होता है।
5- इसमें आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इससे हीमोग्लोबिन की कमी को दूर किया जा
सकता है। इसके साथ ही यह कैल्शियम का भी अच्छा स्रोत होता है। इससे हड्डियां भी
मजबूत होती हैं।
6- सूखा हुआ खजूर आमाशय को बल प्रदान करता है।
7- खजूर दिल को ताकतवर बनाता है। यह शरीर में रक्त वृद्धि करता है।
8- साइटिका रोग से पीड़ित लोगों को इससे विशेष लाभ होता है। खजूर के सेवन से दमे के रोगियों के फेफड़ों से बलगम आसानी से निकल जाती है।
9- लकवा और सीने के दर्द की शिकायत को दूर करने में भी खजूर मददगार साबित होता है।
10- जुकाम से परेशान रहते हैं तो एक गिलास दूध में पांच दाने खजूर डालें। पांच दाने काली मिर्च, एक दाना इलायची और उसे अच्छी तरह उबाल कर उसमें एक चम्मच घी डाल कर रात में पी लें। सर्दी-जुकाम बिल्कुल ठीक हो जाएगा।
फिशर: कारण, लक्षण एवं आयुर्वेद चिकित्सा Fissure Ayurvedic treatment causes symptoms Hindi
दर्द निवारक दवाएं: दुष्प्रभाव और सावधानियां

11 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *