Piles during pregnancy and after delivery : Ayurveda treatment

Piles during pregnancy and after delivery : Ayurveda treatment   Author : Dr. Rahul Chauhan Consultant Anorectal Specialist Shri Dhanwantari Clinic, Ghaziabad     Piles during pregnancy Piles is a common condition now a days, but you’re more likely to get them when pregnant due to the level of certain hormones, and other factors in your body. Let’s have a look :- The hormone progesterone, relaxes the walls of your blood vessels and makes piles a lot more likely condition to occur. The weight of your baby as it grows, puts more pressure on your veins, leads to their enlargement […]

Read more

OBESITY : HOW TO CONTROL WEIGHT AND STAY FIT

OBESITY : HOW TO CONTROL WEIGHT AND STAY FIT Dr. Swastik Jain  Cosultant Ayurveda Physician M.O. I/c Ayurveda, Uttarakhand Govt. मित्रों आज मैं W.H.O. की रिपोर्ट देख रहा था जिसमें मोटापे के बारे में बहुत कुछ बताया गया था. तो सोचा कि आज इसी विषय पर आपसे चर्चा करी जाए और अपने विचार और अनुभवों को बांटा जाए. मेरे पास अनेक ऐसे रोगी आते हैं जो मोटापे से परेशान हैं और इसके बारे में ज़्यादा से ज़्यादा जानना चाहते हैं और इससे मुक्ति पाना चाहते हैं. तो उनके जो जो प्रश्न होते हैं और इस दौरान जो चर्चा होती है […]

Read more

Natural Ayurveda beauty tips in Hindi

Natural Ayurveda beauty tips in Hindi बहुत आसान ब्यूटी टिप्स ज़रूर अपनाएँ   Dr. Swastik Jain, Consultant Ayurveda Physician   Under eye dark circles (आंखों के नीचे काले धब्बे होना )   आंखों के नीचे काले धब्बे होना आम समस्या है कम सोने, अधिक थकान होने, कमजोरी अथवा किसी बीमारी के कारण होते है । प्राय: नींद न आने की बीमारी के कारण होते हैं और उनकी आंखों पर काले धब्बे पड़ जाते है । नींद लेना स्वास्थ्य के लिये आवश्यक है ।यदि आपको नींद नही आती, आप को थकावट रहती है तो रोज सुबह घर में ही एक्ससाइज करनी […]

Read more

डायबिटीज- इससे बचाव है आपकी अपनी ज़िम्मेदारी

डायबिटीज- इससे बचाव है आपकी अपनी ज़िम्मेदारी डायबिटीज जिसे डॉक्टर डायबिटीज मेल्लिट्स भी कहते हैं आजकल प्रायः हर घर में पायी जाने वाली एक सामान्य बीमारी है। इसमें मनुष्य के रक्त में ग्लूकोस की मात्रा सामान्य से काफी बढ़ी हुई पायी जाती है। इसके कई कारण होते हैं। सामान्यतः या तो शरीर में इन्सुलिन कम मात्रा में स्त्रावित होता है या फिर शरीर स्त्रावित हो रहे इन्सुलिन के प्रति समुचित रूप से प्रतिक्रिया नहीं कर रहा होता है। इससे ग्रस्त लोगों में तीन लक्षण मुख्य रूप से पाए जाते हैं- पौलियूरिया (अधिक बार मूत्र त्याग के लिए जाना), पौलिडिपसिया (बहुत […]

Read more

एंटीबायोटिक्स : अंधाधुंध प्रयोग के दुष्परिणाम

एंटीबायोटिक्स : अंधाधुंध प्रयोग के दुष्परिणाम Author: डॉ.स्वास्तिक जैन, चिकित्सा अधिकारी, ( आयुष विभाग , उत्तराखंड शासन ) एंटीबायोटिक्स की खोज ७० वर्ष पहले जब Alexander Fleming ने अपनी प्रयोगशाला में अत्यंत सूक्ष्म पर बहुत ही शक्तिशाली जीवों की खोज करी थी जिसे एंटीबायोटिक्स कहा गया. तब से लेकर आज तक इस छोटे से जीव ने चिकित्सा विज्ञान के क्षेत्र में एक नए युग कि शुरुआत कर दी है. उस समय इनकी खोज से यह खा जाने लगा था कि एंटीबायोटिक्स की खोज ने मानव की जीवाणुओं द्वारा फैलाई जा रही बीमारियों से युद्ध में अब विजय पा ली है. लेकिन उस समय की भविष्यवाणी […]

Read more

कमर दर्द, स्लिप-डिस्क और सियाटिका : कारण, बचाव और उपचार

Low back pain, Sciatica : Causes, Prevention and treatments in Hindi कमर दर्द, स्लिप-डिस्क और सियाटिका : कारण, बचाव और उपचार  डॉ. नवीन चौहान, कंसलटेंट आयुर्वेद फिजिशियन      कमर के निचले हिस्से में दर्द की समस्या से अक्सर हमें दो चार होना पड़ता है. ऐसा दर्द जो कमर के निचले हिस्से से शुरू होकर एक या दोनों टांगों में चलता हुआ महसूस हो, सियाटिका का दर्द हो सकता है. सियाटिका में प्रभावित टांग में झुनझुनी या सुन्नपन भी हो सकता है. इस रोग में रोगी गिद्ध के सामान लड़खड़ा कर चलता है इसलिए आयुर्वेद में इस रोग को ग्रध्रसी […]

Read more

मच्छरों को समाप्त करने के प्राकृतिक उपाय

Natural tips to destroy mosquitoes Hindi मच्छर मानवता के लिए एक बड़ा गंभीर खतरा है। मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया, आदि ऐसी कई बीमारियां मच्छर द्वारा फैलती हैं। हम में से ज्यादातर लोग मच्छरों को मारने के लिए रासायनिक कीटनाशकों का इस्तेमाल करते हैं लेकिन इन रासायनिक एजेंटों को एलर्जी का कारण माना जाता है और यह हानिकारक होते हैं। तो अगर आप इन तंग करने वाले जंतुओं से छुटकारा पाने के प्राकृतिक तरीकों की तलाश कर रहे हैं, यहाँ मच्छरों को दूर रखने के दस उपाय हैं १. नीम का तेल नीम मानव शरीर के लिए काफी लाभदायक है। लेकिन आपका […]

Read more

Health benefits of laughing in Hindi हँसने के पाँच फायदे

हँसने के पाँच फायदे आज की भाग दौङ भरी जिंदगी, ऊपर से काम का प्रेशर हममे में से कई लोगों को तो याद भी न होगा कि पिछली बार कब खिलखिला कर हँसे थे। जबकी हँसना हम सभी के लिये अति महत्वपूर्ण है किन्तु हम उसे नजर अंदाज कर देते हैं। मित्रों हँसने से हमारी जिंदगी किस तरह स्वस्थ एवं खुशनुमा हो सकती है उसी के बारे में थोङी सी जानकारी शेयर करने की कोशिश कर रही हूँ , पसन्द आए तो हँसियेगा जरूर. तो आइये जानते हैं हंसने के पाँच फायदे: 1) हंसने से हद्रय की एक्सरसाइज हो जाती […]

Read more

गिलोय : आयुर्वेद का अमृत

गिलोय है आयुर्वेद का अमृत   गिलोय (MIRACULOUS PLANT) एक बहुत ही उपयोगी आयुर्वेदिक औषधि है। यह दिव्य औषधि जिसे संस्कृत में गडूची और अम्रतवल्ली, अमृता,मराठी में गुडवेल, गुजराती में गिलो के नामो से जाने जाने वाली वर्षो तक जीवित रहने वाली यह बेल या लता अन्य वृक्षों के सहारे चढ़ती है। नीम के वृक्ष के सहारे चडऩे वाली गिलोय औषधि उपयोग के लिए सर्वश्रेष्ट होती है, इसी कारण इसे नीम-गिलोय भी कहा जाता है। फू ल लाल झुमकों में लगता है। अंगूठें जैसा मोटा तना प्रारम्भ में हरा, पकने पर धूसर रंग का हो जाता है,यही तना औषधि के […]

Read more

दर्द निवारक दवाएं: दुष्प्रभाव और सावधानियां

दर्द निवारक दवाएं: दुष्प्रभाव और सावधानियां डॉ.स्वास्तिक जैन, आयुर्वेद फिजिशियन  मित्रों , हम सबने कभी न कभी दर्द निवारक दवाओं का अपने जीवन में प्रयोग किया होगा. यदि कभी आपका सर दर्द करता है तो आप सोचते होंगे की चलो कोम्बिफ्लैम या ब्रुफिन खा ली जाय तो दर्द ठीक हो जाएगा. कुछ समय के लिए इससे आराम भी मिल जाता है. परन्तु अगर ऎसी दवाओं को रोज ही लेने की आदत पड़ जाए तो न केवल यह शरीर के लिए नुक्सानदायक होता है बल्कि इससे होने वाले साइड एफ्फेक्ट्स से मृत्यु तक हो सकती है. आजकल बाज़ार में अलग अलग […]

Read more
1 2